हल्दी के फायदे|benefits of curcumin

हल्दी खाने को रंग और स्वाद देने के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है. आयुर्वेद में भी इसे औषधि माना गया है. हल्दी में मैग्नीशियम और आयरन होता है, जो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी के लिए जरूरी है. साथ ही हल्दी फाइबर, पोटैशियम, विटामिन-बी6, विटामिन-सी, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट का भी मुख्य स्रोत है.

हल्दी सिर्फ सेहत ही नहीं, बल्कि स्किन के लिए भी फायदेमंद होती है. इसलिए आज हम आपको हल्दी के कुछ फायदे बताने जा रहे हैं.

  • एंटीसेप्टिक

हल्दी में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. चोट लग जाने पर जख्म पर हल्दी लगाने से काफी राहत मिलती है. इतना ही नहीं, यह कई तरह के फंगस और वायरस से भी बचाता है. इसके अलावा, हल्दी दांत दर्द में भी इलाज कर सकती है.

Advertisement

Curcumin Shake

This is where putting your hands on the Ayushopee curcumin shake will surely bring along loads of health benefits to you and your family.

  • कील-मुंहासों के लिए

हल्दी में पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा से जुड़ी समस्या को ठीक कर सकते हैं. यहां तक कि कील-मुंहासों का इलाज भी हल्दी से किया जा सकता है. यह दाग-धब्बों को हल्का कर त्वचा को जवां और निखरा हुआ बनाती है. हल्दी कील-मुंहासों की वजह से चेहरे पर आयी सूजन और लाल निशानों को कम करने में मदद करती है.

  • झुर्रियां

हल्दी में पाए जाने वाले करक्यूमिन में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो शरीर से फ्री रेडिकल्स को खत्म करते हैं. कुछ हद तक ये फ्री रेडिकल्स चेहर पर झुर्रियों का कारण बनते हैं. हल्दी को योगर्ट के साथ मिलाकर लगाने से झुर्रियां कम होती है.

  • डैंड्रफ

एंटीसेप्टिक और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण से भरपूर होने की वजह से हल्दी डैंड्रफ से राहत दिला सकती है. साथ ही डैंड्रफ के कारण होने वाली खुजली को भी कम करती है.

Advertisement

Curcumin reduces inflammation, oxidation, cholesterol, improves endothelial function thus helps in reducing the heart problems Arthritis especially rheumatoid arthritis is nothing but autoimmune disorder happens due to overoxidation, curcumin helps in reducing the damage of joints due to antioxidant activity.

  • इम्यूनिटी रखे बरकरार

हल्दी इम्यूनिटी बनाए रखने में बहुत फायदेमंद होती है. हल्दी में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो प्रतिरोधक प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *